Homeयोग

थाईराईड ठीक करने के लिए योग – कर्णपीड़ासन

Hi Friends, कैसे हैं आप सभी ? हमें commenting और email के जरिये आपकी तरफ से बहुत से messages प्राप्त हो रहे हैं। हमें इस बात की बहुत ख़ुशी है की आपको हमारे blog बहुत पसन्द आ रहे हैं। आज का हमारा विषय है की Yoga की मदद से Thyroid को कैसे ठीक करें।

कर्णपीड़ासन (Ear pressing) बहुत ही rare yoga है जिसको करने के लिए mentally practice की बहुत जरुरत होती है। ये बहुत ही अच्छी yoga हे जिससे की ear से related problems ख़तम होते हैं। यह आसन Kneee to Ear Pose के नाम से भी जाना जाता है। कर्णपीड़ासन , हलासन का advanced version है। ये आसन human body के spines के लिए बहुत अच्छी मानी जाती है। Blood circulation तेज़ होता है जिससे की head और Ear की blockage removed होती है। इस आसन को practice करने से flexibility और balancing दोनों का अच्छा अनुभव हो जाता है। कर्णपीड़ासन word संस्कृत के words से लिया गया hai . ये 3 शब्दों के समूह से बना है “करने” “पीड़ा” “आसन”।

“कर्ण ” means “Ear”
“पीड़ा” means “Pain / Pressure”
“आसन” means “Pose / Posture”

Thyroid Thik Karne Ke Liye Yoga - Karnapidasana

कर्णपीड़ासन कैसे करें 

  • सबसे पहले आप ज़मीं पर सीधे लेट जाएँ और अपने हाथों को नीचे की तरफ रखिये।
  • अब आप अपनी दोनों legs को ऊपर की तरफ सीधा 90 degree angle पे सीधे कर लीजिये।
  • आप धीरे धीरे सांसे लेते रहे फिर अपने legs को पीछे की तरफ मोड़िये।
  • आप एक बात का ध्यान रखिये की आपके legs की knee bend नहीं होनी चाहिए।
  • अपने legs को तब तक मोड़िये जब तक की आपके legs के finger ज़मीं को touch न कर लें।
  • जब आपके पैर के fingers ज़मीं को touch करने लगे तो आप अपने hands को आपस में lock कर दें।
  • जब आप right leg को bend करे तब आपकी knee right shoulder पर होनी चाहिए।
  • बाद में फिर वैसे ही left leg के साथ भी करें।
  • आप इसी position में अपने आप को 25-30 second के लिए रखिये।

कर्णपीड़ासन कैसे करें 

  • Digestion को improve करता है।
  • यह आसन brain को शांत रखता है।
  • Shoulder और spine के लिए भी ये अच्छा आसन है।
  • Menopause से related किसी भी issue को थोड़े समय में ही ठीक करता है।
  • अगर कोई person stress या fatigue से घिरा हुआ है तो ये आसन सबसे बेस्ट है।
  • ये body के विभिन्न आंतरिक अंगो को मालिश प्रदान करता है।
  • ये आसन पूरी body को energy देता है।
  • ये thyroid और nervous system के लिए भी बेहतर आसन है।
  • ये lungs की strength को improve करता है।

कर्णपीड़ासन के लिए सावधानियाँ

  • Diarrhea के patient को ये आसन avoid करना चाहिए इसे करने से आपकी स्तिथि और ख़राब हो सकती है।
  • इसके इलावा अगर महिलाएं मासिक धर्म (periods) से गुजर रही हैं तो भी ये आसन नहीं करना चाहिए इससे उनके पेट की दर्द बढ़ने की सम्भावना बाद जाता है।
  • अगर कोई person को neck injury है तो भी उसे इसे avoid करना चाहिए।
  • हमेशा याद रखें की अगर कोई blood pressure की problem से या अस्थमा की problems से गुजर रहा है तो उसे भी ये आसन नहीं करना चाहिए।

कर्णपीड़ासन Video

आज के इस blog में हमने कर्णपीड़ासन करने के Steps, benefits, caution और video को आप सबके साथ share किया है। आशा करते हैं की आपको हमारा ये blog भी बाकि blogs की तरह पसन्द आएगा। हमारे साथ बने रहिये . हम future में और भी बिमारियों की ठीक करने की जानकारियाँ आप सब के लिए लाएंगे।

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *