Homeत्यौहार

स्वतंत्रता दिवस पर भाषण – 15 अगस्त दिवस निबंध

दोस्तों आज के इस article में हम स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) पर कुछ आसन से भाषण यानि speech लेकर आये हैं जो की बहुत ही आसन सी है जिसे बड़े से लेकर कोई school जाने वाला बच्चा तक आसानी से पढ़ और याद कर सकता है. ये भाषण उन विद्यार्थियों के लिए सबसे फ़ायदेमंद हैं जिन्हें अपने school में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर कोई speech तैयार करके बोलनी है. ये speech इतनी आसन हैं की आपको बढ़ी ही आसानी से याद हो जाएगी और आपके स्कूल में सबको पसंद आएगी और आपके लिए सभी दिल से clapping भी करेंगे.

Independence Day Speech

स्वतंत्रता दिवस पर भाषण – 15 August Independence Day Speech

मेरे सभी आदरणीय आदरणीय अध्यापकगण, अभिभावको और प्यारे मित्रों को सुबह का प्रणाम और मेरा नमस्कार. आज हम सभी भारत का राष्ट्रीय अवसर स्वतंत्रता दिवस मनाने के लिए यहाँ इकठ्ठा हुए हैं. मेरी तरफ़ से आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की बहुत बहुत बधाई.

जैसा की हम सभी लोग जानते हैं की स्वतंत्रता दिवस इसलिए मनाया जाता है की क्योंकि इसी दिन 15 अगस्त 1947 को हमारे देश आज़ाद हुआ था और हमें ब्रिटिश राज से मुक्ति मिली थी. मुझे ये बताते हुए बहुत ही गर्व हो रहा है की आज हमारी आज़ादी को 70 साल पुरे हो चुके हैं और हम 70वां आज़ादी दिवस मना रहे हैं.

नई दिल्ली में स्वतंत्रता दिवस वाले दिन पंडित जवाहरलाल नेहरु जी ने अपने भाषण में कहा था की जब पूरी दुनिया के लोग चैन की नींद सो रहे थे उस समय भारत के लोग ब्रिटिश साम्राज्य से आज़ादी पाने के लिए संघर्ष कर रहे थे और मुझे यह कहते हुए बहुत ही गर्व महसूस हो रहा है की आज भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतान्त्रिक देश है. भारत में बहुत से धर्म के लोग रहते हैं फिर भी जो चीज़ हमारे देश को जोड़े रखती हैं वो इस विविधता में एकता.

आज का दिन हम सबके लिए बहुत ही ख़ुशी का दिन है क्योंकि ये दिन हमें उन महान स्वतंत्रता सेनानीयों को याद करने का मौका देता है जिन्होंने हमें एक शांतिपूर्ण और खूबसूरत जीवन देने के लिए अपने प्राणों की आहुति तक दे डाली. ऐसे शूरवीरों को हम प्रणाम करते हैं.

आज़ादी से पहले भारत में लोगों को पढ़ने-लिखने, अच्छा खाने पीने की छूट नहीं थी. अंग्रेज़ अपने म्ह्त्वकांशी मतलबों के लिए भारतियों के साथ गुलामों से भी ज्यादा बुरा व्यवहार किया करते थे.

भारत की आज़ादी के दिन को याद करने के लिए हम हर साल 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाते हैं और साथ ही उन महान लोगों को भी याद करते हैं जिनके बलिदान और शूरवीरता से हम आज एक आज़ाद हवा में साँस ले रहे हैं और हमें कही भी आने जाने और अपनी बात रखने की आज़ादी है.

अंग्रेज़ों से आज़ादी पाना हमारे पूर्वज़ों के लिए बहुत ही मुश्किल कार्य रहा है. अंग्रेज़ उस समय हर तरह के गोला बारूद से परिपूर्ण थे मगर हमारे स्वतंत्रता सैनानियों की लगातार कौशिश से ही ये मुश्किल कार्य आसन हो पाया था. हम सिर्फ एक ही दिन में उन सारे शूरवीरों को तो याद नहीं कर सकते मगर उनकी बहादुरी और देशभक्ति को सलाम ज़रूर कर सकते हैं. ये सदेव हमारे यादों में बसे रहेंगे और हमारे जीवन में वो एक प्रेरणास्तोत्र का काम करेंगे.

आज का दिन बहुत ही महत्वपूर्ण दिन है क्योंकि आज हम उन महान भारतीय नेताओं को भी भी याद करेंगे जिन्होंने देश की आज़ादी के लिए अपने सभी सुखों का त्याग कर दिया था. भारत की आज़ादी किसी एक के दिलाने से नहीं मिली है ये मिली है तो सभी के सहयोग से. वो सभी जिनकी सहयोगिता और बलिदान से हमें ये आज़ादी मिली है वो हमारे देश के सच्चे हीरो थे और ये देश उनका क़र्ज़ कभी चूका नहीं सकता.

भारत की कुछ महान स्वतंत्रता सेनानीयो में बाल गंगाधर तिलक, महात्मा गांधी जी, नेताजी सुभाष चन्द्र बोस, जवाहरलाल नेहरु, खुदीराम बोस, चन्द्रशेखर आजाद, भगत सिंह, लाला लाजपत राय का नाम सबसे पहले आता है. ये सभी प्रसिद्ध देशभक्त थे जिन्होने अपनी पूरी ज़िन्दगी देश की आज़ादी के लिए कड़ा संघर्ष किया. हम उन पलों को याद भी नहीं कर सकते जो यातनाएँ हमारे पूर्वजों ने देश को आज़ाद करवाने के लिए सहीं है.

गांधीजी हमारे देश के एक महान नेता रहे हैं जिन्होंने लोगों को अहिंसा और सत्याग्रह जैसे असरदार तरीकों के बारे में लोगों को बताया और सभी लोगों को इन्ही रास्तों पर चलने की सलाह दी. अहिंसा और शांति से भी स्वतंत्रता हासिल की जा सकती है ये सपना सबसे पहले गांधीजी ने ही देखा था और उन्होंने इस सपने को सच कर दिखाया.

भारत हमारी मातृभूमि है और हम सब आज़ाद भारत के नागरिक हैं. हमें अपने देश की बुरे लोगों से रक्षा करनी चाहिए. हम अपने देश को तरक्की की उचाईयों पर ले जाएँ ये हमारा कर्तव्य है. हमें अपने देश के लिए विश्वभर में एक कीर्तिमान स्थापित करना चाहिए.

आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की ढेर साड़ी शुभकामनाये, हम आशा करते हैं की हमारा देश हर साल, हर क्षेत्र में विकास करता रहे ताकि पूरी दुनियां हम पर नाज़ करे.

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *