Homeप्रेगनेंसी

प्रेगनेंसी में कौन-कौन से योग हैं आपके लिए फ़ायदेमंद

हम ये जानते हैं कि अगर आप pregnant हैं तो आपके लिए ये समय बहुत ही तनावपूर्ण होगा. लेकिन आपको अपने मन को शांत रखना बहुत जरुरी है. अपने मन को शांत रखने के लिए yoga सबसे महत्वपूर्ण है. Pregnancy में अगर आप अच्छा स्वस्थ रहेगा तो ही आपका बच्चा भी स्वस्थ रहेगा और आपको स्वस्थ रहने के लिए अपने भोजन पर और व्यायाम पर ध्यान देना चाहिए. गर्भावस्था में महिलाओं का weight increase होना शुरू हो जाता है इसलिए अगर आप इन दिनों में योग या व्यायाम करती हैं तो आपको normal delivery होने के chance काफ़ी बढ़ जाते हैं और जब आप बच्चे को जन्म दे रही होंगी उसका दर्द सहने के ताकत भी आपको मिलेगी. अगर doctors के मानें तो वो आपको 4 महीने से 9 महीने तक yoga करने के सलाह देंगे. यहाँ हम आज आपको बतायेंगे की वो कौन से आसन है जो की pregnancy के दौरान आपको करने चाहिए.

Pregnancy में कौन से Yoga हैं आपके लिए Beneficial

Pregnancy Yoga Precaution

  • Pregnancy के दौरान योग करना बहुत ही अच्छा निर्णय है मगर ऐसी कुछ बातें है जिसका आपको ख्याल रखना बहुत जरुरी है जिससे की आपको भविष्य में किसी तरह की बड़ी हानि न उठानी पड़े.
  • Pregnancy के तीसरे महीने में आपका वजन एकदम से बढ़ने लगता है जिससे की आपके लिए रोजमर्रा के काम करने मुश्किल हो जाते हैं. मगर ये याद रखें की अपने आप को सुस्त न पड़ने दें और धीरे धीरे थोड़े काम करते रहा करें जिससे आप active महसूस करेंगे. और हो सके तो थोड़ी walk या व्यायाम भी इन दिनों में करें.
  • Pregnancy के तीसरे महीने में कोई भी ऐसा yoga न करें जो की ज्यादा मुश्किल हो या फिर जिससे आपकी ज्यादा energy लगती हो. साथ ही इस बात का ध्यान अवश्य रखें की कोई भी योग करने से पहले अपने पेट को किसी चीज़ से support दें ताकि पेट पर ज्यादा जोर न पड़े.
  • अगर आप अपने पहले 3 महीने के बीच में है तो आपको अपने doctor से इस विषय में सलाह लेनी होगी की क्या आप अभी व्यायाम या योग कर सकती हैं या नहीं और अगर हाँ तो कौन से yoga आपके लिए फायदेमंद होंगे.
  • अगर आपने कोई योगा pregnancy से पहले नहीं किया है तो उसे करने की कोशिश न करे क्योंकि नए योगा की practice करने की लिए आपको उसको सीखना होगा और ये एक risk भरा काम हो सकता है.

Pregnancy में कौन से आसान करने चाहिए

1. अनुलोम विलोम

विधि:  एक सही position में बैठ जाएँ और अपने right hand के अंगूठे को नाक पर रख लें. अब आपको अपने नाक के right हिस्से से साँस लेनी और left से साँस छोड़नी है. और थोड़ी देर बाद आपो left से सांस लेनी और right से छोड़नी है. इस परक्रिया को थोड़ी देर तक करें. मगर याद रहे आपकी सांसे लम्बी तथा गहरी होनी चाहिए.

लाभ: अनुलोम विलोम आसन बहुत ही बढ़िया आसन है. इसको नियमित तौर पर करने से शरीर में blood circulation तीव्र होता है. जिससे की आप पूरा दिन active महसूस करेंगी और आप अपने आपको stress से भी दूर रख सकती हैं.

2. भद्रासन

विधि: अपने दोनों पेरों को आगे की और करके relax होकर बैठे और फिर अपने दोनों पैरों के तलवों को आपस में जोड़ लें और अपने नजदीक लेट हुए पैरों को fold करना शुरू करें. अपने दोनों हाथों से अपने पैरों की उंगलिओं को पकड के रखिए.  थोड़ी देर इसी position में अपने आप को रखें और आराम से सांसें लेते और छोड़ते रहें.

लाभ: इस योग को करने से spine strong होती है और आपकी पाचन शक्ति भी मजबूत होती है.

3. वक्रासन

विधि: सबसे पहले अपनी दोनों legs को आगे की और करके बैठ जाएँ और फिर अपनी right leg को fold करके ऊपर की और ले आएँ. अब अपने left arm को ऊपर उठा लें. अब left arm की कोहनी को को अपने right leg के बाहरी हिस्से से touch करवाएँ और उस हाथ की हथेली को हिप्स के साथ लगा लें. अपने right hand को पीछे की और कर लें अब कुछ देर इसी मुद्रा में रहें और फिर relax लेकर दुसरे तरफ से भी ऐसे ही कीजिए.

लाभ: वक्रासन करने से आपके शरीर की हद्धियाँ मतबूत होती हैं और कमर को भी ताकत मिलती है. अगर आप इसे pregnancy के दौरान कर रही हैं तो आपको इसके बहुत से लाभ होंगे.

4. तितली आसन

विधि: तितली आसन करने के लिए दोनों पैरों को सामने की ओर मोड़कर, तलवे मिला लें, यानी पैरों से नमस्ते की मुद्रा बननी चाहिए। इसके पश्चात दोनों हाथों की उंगलियों को क्रॉस करते हुए पैर के पंजे को पकड़ें और पैरों को ऊपर-नीचे करें। आपकी पीठ और बाजू बिल्कुल सीधी होनी चाहिए। इस क्रिया को 15 से अधिक बार ना करे.

लाभ: तितली आसन गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत ही बढ़िया होता है जिससे की body flexible होती है. इसको रोजाना अभ्यास करसे से आपके शरीर को जो ताकत मिलती है वो आपके प्रसव के समय आपको दर्द सहने की ताकत तो देती ही है साथ ही आपको प्रसव के दौरान कम दिक्कत का सामना करना पड़ता है.

5. पश्चिमोत्तानासना

विधि: अपने दोनों पैरों को सीधा कर लें और इसी position में बैठ जाइए. अपने दोनों पैरों में थोड़ा gap बनाकर रखें. अब लम्बी गहरी साँसें लेते हुए अपने दोनों हाथों से अपने पैरों की उंगलिओं को चूने का पर्यास करें. अब 10 second इसी position में रहिये और फिर normal position में आ जाएँ. थोडा सा break लेने के बाद दुबारा इसे दोहराएँ.

लाभ: इस योग को करने से तनाव कम होता है और शरीर में flexibility आती है. अगर आप रोजाना इस आसन को करते है तो आपकी लिए ये बहुत ही फायदेमंद है.

6. पर्वतासन

लाभ: पर्वतासन करने के वैसे तो हमारे शरीर को बहुत फायदे हैं मगर सबसे बढ़ा फायदा है की एक तो इसको रोज़ाना करने से आपको कमर दर्द की problem से छुटकारा मिलता है और इसका जो सबसे बड़ा फायदा है वो है की आप अगर इसको सही से अभ्यास करती हैं तो आपका weight control में रहेगा. Pregnancy में आगे चलकर आपका weight इतना ज्यादा नहीं बढ़ेगा.

7. शवासन

लाभ: शवासन pregnant महिलाओं के लिए एक वरदान के समान है. इसके बहुत से फायदे होती है. अगर आप इसे करेंगी तो आपको आत्मित सुख मिलेगा और आप tension और stress से दूर रहेंगी. इसको करने से आपके बच्चे का पूर्ण रूप से विकास होता है. इससे आपका blood circulation भी सही बना रहता है.

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *