Homeघरेलू उपाय

पित्ताशय की पथरी से हमेशा के लिए पाएँ राहत – घरेलू इलाज

आज के अपने इस ब्लॉग में हम चर्चा करेंगे पित्ताशय की पथरी (Gallbladder Stones) के बारे में. पित्ताशय की पथरी में हमारे पित्ताशय की थैली में छोटे छोटे पत्थर बन जाते हैं जिनका आकर छोटा या फिर बड़ा भी हो सकता है. पित्त की पथरी के मरीज़ को इसका इलाज़ समय पर करवा लेना चाहिए वर्ना ये बीमारी एक भयंकर रूप धारण कर सकती है और जिसके आपको बहुत से नुकसान उठाने पढ़ सकते हैं. अगर आप किसी doctor को अपनी पित्त की पथरी के बारे में बताएँगे तो वो आपको इसके लिए surgery करवाने की ही सलाह देंगे जिसमे doctors surgery के द्वारा आपके पित्त की थैली को शरीर से बाहर निकल देते हैं. जिसके ज्यादातर बात बहुत से side effects भी देखे गए हैं. साथ ही इस surgery में इतने पैसे खर्च हो जाते हैं की वो हर किसी के लिए चूका पाना आसन नहीं रहता तो इसलिए दोस्तों हम आज आपके लिए पित्त की पथरी को जड़ से खत्म करने के कुछ घरेलु उपाय आपके लिए लेकर आए हैं जो आप सबके लिए करने बहुत ही आसान हैं और साथ ही ये पूरी तरह से आयुर्वेदिक होने के साथ इनका कोई side effect भी नहीं है.

Gallbladder Stones

पित्ताशय की पथरी होने के कारण

पित्ताशय का प्रमुख कार्य पाचन क्रिया को संपादित करने के लिए पित्त को संचित करना होता है लेकिन कई बार ऐसा होता है की पित्त में उपस्थित Cholesterol कभी कभी ठोस हो जाते हैं जिससे वो पथरी का रूप ले लेते हैं. जिसका सबसे बड़ा कारण ज्यादा cholesterol वाला भोजन करना है. पित्त की पथरी होने के और भी कारण हैं जैसे मोटापा, चावल अधिक खाना, fast food का ज्यादा सेवन या बिज़ वाले कुछ फल और सब्जियां जो पथरी होने का कारण बनते हैं.

पित्ताशय की पथरी के लक्षण

पथरी की समस्या में हर समय आपको दर्द नहीं रहती. जब आप ज्यादा तला और chelostrol युक्त भोजन कर लेते हैं तो आपको अपने पेट के ऊपर हिस्से में थोड़े दर्द की अनुभूति होती हैं, पेट फूलना या फिर कभी कभी तो पेट के आस पास तीव्र पीड़ा होना पथरी होने के लक्षण हैं. वैसे और भी कई लक्षण हैं तो आपको पथरी होने के संकेत देते हैं जैसे ज्यादा फ़ास्ट फ़ूड खाने के बाद पेट में जलन महसूस करना, उलटी हो जाना, चक्कर आने लगना या फिर अक्सर आपकी कमर में दर्द का होना. अगर आपमें भी इनमें से कुछ लक्षण पाए जाते हैं तो आप इसे लेकर सावधान हो जाएँ.

पित्ताशय की पथरी का इलाज़

वैसे तो सभी doctors पित्ताशय की पथरी होने पर operation करने की ही सलाह देते हैं मगर नीचे दिए गए कुछ उपायों और परहेज़ों को करके आप पित्ताशय की पथरी की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं और ये घरेलु उपाय इतने आसन हैं की ये चीज़े आपको आपके घर पर ही आसानी से मिल जाएगी.

1. हल्दी पाउडर

हल्दी पाउडर पित्ताशय की पथरी को ठीक करने के लिए बहुत ही अच्छा उपाय है. इसमें पाए जाने वाले anti-inflammatory और anti-oxidant पित्ताशय की पथरी को पूर्ण रूप से गलाने में सक्षम हैं. इसलिए आपको हर रोज़ अपने खाने के भोजन में हल्दी में ज़रूर उपयोग करना चाहिए.

2. पुदीना

पुदीना भी पित्ताशय की पथरी को गलाने में सहायक होता है. एक गिलास पानी लेकर आप उसे उबलने के लिए रख दें और उसके कुछ पुदीने के पत्तों को डाल दें. जब ये पानी पूरी तरह उबल जाए तो आप इसे छानकर इसमें एक चम्मच शहद का मिलाकर पी लें. याद रखें की पानी आपको गर्म ही पीना है ताकि आपकी पथरी पर strong असर करे, ठंडा करके पानी पीने का कम फायदा होगा.

3. लहसून और नींबू

अपने शरीर में युक्त केलोस्ट्रोल की मात्रा को घटाने के लिए लहसून और नींबू का ज्यादा सेवन करना चाहिए.

4. नींबू का रस

नींबू का रस पथरी के लिए बहुत फायदेमेंद है जो cholesterol बढ़ने से तो रोकता ही है साथ है अगर आपके पित्ताशय में cholesterol के वजह से बनी पथरी को भी धीरे धीरे गला गलाकर बाहर निकल देता है इसलिए रोजाना जितना ज्यादा हो सके नींबू पानी पिएँ. अगर आपको पथरी नहीं भी है तो भी आपको दिन में 3 गिलास नींबू पानी तो पीना ही चाहिए जिससे की भविष्य में पित्ते की पथरी होने का आपको कोई डर नहीं रहेगा.

5. चुकन्दर, गाजर और खीरा

अगर आप चुकन्दर, गाजर और खीरे का ज्यादा सेवन करते हैं तो न केवल पित्ताशय बल्कि गुर्दें की पथरी भी गलकर शरीर से बाहर आ जाती है.

6 सेब का सिरका या जूस

सेब में पाए जाने वाला Malic acid पथरी को गलाने में अहम भूमिका निभाता है. आप सेब का जूस रोजाना पीएं और साथ में सेब का सिरका को पीना भी आपके लिए लाभकारी है. सेब को आप direct भी खा सकते हैं. आप सेब को किसी भी रूप में लें उसके पाया जाने वाला malic acid आपके शरीर में पहुँच ही जाएगा. अगर हो सके तो आप एक गिलास सेब के जूस में एक चम्मच सेब का सिरका मिक्स करके पिएँ जो आपको ज्यादा फायदा करेगा.

7. अंगूर

जितना ज्यादा हो सके अंगूर का सेवन करें जोकि पथरी तो ठीक करने के लिए बहुत फायदेमेंद है. यदि आप चाहें तो अंगूर का जूस भी पी सकते हैं.

8. नाशपाती का रस

नाशपाती में पाया जाने वाला pectin आपके cholesterol को कम करके पथरी को पूरी तरह से गला देता है. इसके ली आपको आधा गिलास नाशपति के जूस में आधा गिलास गर्म पानी मिलाकर और साथ में एक चम्मच शहद को मिलाकर दिन में दिन बार पीना चाहिए.

खान पान पर खास ध्यान

आपको पथरी के इलाज के साथ साथ उन चीजों पर भी ध्यान रखना होगा जो आपके लिए उन दिनों में खानी चाहिए और नहीं खानी चाहिए.  आइये जानते हैं वो कौन कौन से पदार्थ हैं जिनका आपको ध्यान रखना चाहिए.

  • जितना ज्यादा से ज्यादा हो सके पानी पीना चाहिए
  • ज्यादा वसायुक्त भोजन का जैसे दूध, पनीर का कम सेवन किया जाए.
  • बाहर का भोजन और फ़ास्ट फ़ूड को पूरी तरह से बंद कर दें.
  • विटामिन C से भरपूर फल और सब्जियों को खाना चाहिए.
  • आपको सिगरेट और शराब को वर्जित करना होगा जिसका सेवन आपको भारी मुश्किल में डाल सकता है.

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *