Homeघरेलू उपाय

गुर्दे की पथरी का आयुर्वेदिक इलाज – Kidney Stone Home Remedy

दोस्तों गुर्दें में पत्थरी (kidney stone) होने के बहुत से कारण हो सकते हैं मगर जिस किसी के भी ये पत्थरी होती है उसको बहुत ही दर्द से गुजरना पड़ता है. पथरी में आपको पेशाब करते समय मूत्रमार्ग में जलन या दर्द महसूस होता है. हर किसी के गुर्दे में पथरी का आकार अलग-अलग हो सकता है और ये जरुरी नहीं है की पथरी एक ही हो किसी किसी के गुर्दे में 2 या 3 stones भी पाए जाते हैं और ये आपको left kidney या right kidney या फिर दोनों में भी हो सकती है. अगर पथरी का आकर छोटा हो फिर तो ये आसानी से पेशाब के साथ निकल जाती है लेकिन अगर पथरी का size इतना बड़ा हो की वो kidney से बहार नहीं निकल सकती तो आपको ये बहुत तकलीफ़ देती है.

दोस्तों आपको पथरी की दर्द किसी भी समय उठ सकती है और जब ये होती है तो इतनी दर्द देती है की आपका उठाना बैठना सब मुश्किल हो जाता है और कोई भी pain killer इस पर काम नहीं करती. वैसे तो पथरी के दर्द को कम करने की दवाई भी आपको chemists या hospital से मिल जाती है पर कई बार दर्द इतना ज्यादा होता है की आपको पथरी की दर्द कम करने का टीका लगवाना पड़ता है. यहाँ तक लोगों को रात में 2 बजे भी दर्द एकदम से शुरू हो जाता है और उस समय उन्हें hospital जाना पड़ता. आइये आज के इस लेख में कुछ घरेलु उपचार उपाय जानते हैं जिससे आप अपने गुर्दे की पथरी को जड़ से ख़त्म कर सकते हैं.

Kidney Stone

पथरी में परहेज

हम आपको अपने आज के article में kidney stone को ठीक करने के उपाय बता रहे हैं मगर पथरी को ठीक करने के उपचार बताने से पहले हम आपको पथरी में किन चीज़ों का परहेज़ करना चाहिए वो बताना चाहते हैं. क्योंकि अगर आप उन चीजों का परहेज़ नहीं करेंगे जो पथरी बढ़ने का कारण होती हैं तो आप कोई भी इलाज करेंगे वो आप कर असर नहीं करेगा या तो अगर करेगा भी तो पथरी को ख़तम करने में काफ़ी समय लग जाएगा.

  • पथरी के मरीज़ को कभी भी चुने वाली चीज़े जैसे पान आदि का सेवन नहीं करना चाहिए.
  • ज्यादा मसालेदार और तली हुई चीज़े न खाएँ
  • मांसाहारी भोजन का त्याग करें, शाकाहारी भोजन ही आपके लिए सबसे बेहतर है
  • बिज़ वाली सब्जियां और फल जैसे भिंडी, टमाटर, अमरुद आदि न खाएँ.
  • दूध, पनीर और protein की चीज़ें उन दिनों में बंद करनी चाहिए.

पथरी के घरेलु उपचार

1. पथरचट्टा 

पथरचट्टा का सेवन पथरी को दूर करने का सबसे आसन और असरकारक तरीका है. इसके लिए आपको पथरचट्टा का एक पत्ता थोड़ी चीनी के साथ या 4 दाने मिश्री के मिलाकर पीसना है और इस मिश्रण को आपको रोजाना खाली पेट एक कप पानी के साथ लेना है. आप चाहें तो पथरचट्टा के थोड़े पत्तों को लेकर एक काढ़ा भी तैयार कर सकते हैं और उसे लगातार 2 हफ्ते तक पीने पर आपको पथरी से मुक्ति मिल जाएगी.

2. कूलथी डाल 

20 ग्राम कुलथी की दाल लेकर उसको 250 ग्राम पानी में अच्छे से उबाल लें. इसे तब तक उबलते रहें जब तक की इसका पानी एक चोथाई नहीं रह जाता. जब ये अच्छे से उबल जाए तो इसे आप चान लें और इस पानी को हल्का ठंडा अथवा गुनगुना होने दें और फिर पथरी के मरीज़ को इसे दिन में 2 बार पिलाएँ. ऐसा सिर्फ एक महीने लगातार करने से पथरी घुलकर बाहर निकल जाएगी.

3. पानी 

पथरी होने का एक कराण पानी का कम पीना भी है और अगर आपको पथरी की शिकायत है तो आप ज्यादा से ज्यादा पानी पीएं जिससे आपकी पथरी आगे खिसकती रहती है और ज्यादा पानी पीना पेशाब में भी pressure पैदा करता है जिससे की पथरी पेशाब के रास्ते बाहर निकल जाती है. अगर आपको पथरी है तो आपको कम से कम रोज़ाना 5-6 लीटर पानी पीना ज़रूरी है और हो सके तो इससे भी ज्यादा 8-10 लीटर पानी पीएं.

4. नींबू का रस और जैतून का रस (Lemon juice and olive oil)

3-4 नींबू को निचोड़कर उसका रस निकल लें और कप में भर लें
अब उतना ही जैतून का रस लें और नींबू के रस में मिला लीजिए
अब आधा लीटर पानी को लेकर उसमे इस मिश्रण को मिला दें
अब इस मिश्रण का सेवन आपको एक सप्ताह में 3 बार बार करना है.

5. मुल्ली के पत्तों 

100 ग्राम मुल्ली के पत्तों का रस लेकर इसे पीएं जो पथरी में काफी लाभकारी है. अगर आप नियमिततौर पर 2-3 बार इस रस को पीते हैं तो कुछ ही दिनों में आपकी पथरी की शिकायत दूर हो जाएगी.

6. अंगूर

अंगूर में बहुत से लाभकारी तत्व होते हैं जो हमारे शरीर के लिए फायदेमंद होते हैं. अंगूर में पाए जाने वाला potassium salt गुर्दे की पथरी को बढ़ने से रोकता है. इसके लिए रोजाना खाने खाने से पहले एक गिलास अंगूर का juice ज़रूर पीएं.

7. प्याज

प्याज़ खाने से भी पथरी को कम किया जा सकता है जिसके लिए आप प्याज़ का रस निकलकर उसे पी सकते हैं या फिर कच्चे प्याज को ऐसे भी खा सकते हैं. 2-3 प्याज को लेकर उसे पानी में उबल लें और उसको बाद में मिक्सी में पीस लें. बाद में एक गिलास पानी में उस juice को मिला लें और इसका सेवन करें.

8. केला

केले में अव्शाधीय गुण और vitamin B6 पाया जाता है जो हमारे शरीर में aukjelet cristal नहीं बनने देता जिससे हमें पथरी की शिकायत नहीं होती. इसलिए आप रोज़ाना केले खाएँ जो आपकी इस समस्या का अंत करेगा.

9. विटामिन B6 

विटामिन B6 पथरी के लिए बहुत फायदेमंद है तो आपको रोजाना 100 से 150 मिलीग्राम vitamin B6 का सेवन करना चाहिए जो पथरी को दूर करने में आपकी मदद करेगा. तुलसी के पत्तों में भी विटामिन b6 पाए जाते हैं तो आप तुलसी के पत्तों को गर्म पानी में उबालकर फिर हल्का गुनगुना होने पर या फिर ठंडा होने पर को पीएं.

पथरी की आयुर्वेदिक दवाई

1.पथरी का इलाज बाबा रामदेव की दवाई से 

गुर्दे की पथरी के लिए Baba Ramdev जी द्वारा निर्मित Divya Ashmarihar Ras दवा बहुत ही असरदार medicine है जो की पुर्णतः आयुर्वेदिक है और आपको किसी भी Baba Ramdev जी की पतंजली की दुकान पर आसानी से मिल जाएगी. ये आयुर्वेदिक दवाई इतनी असरदार है की इसका कुछ ही दिनों में उपयोग करने पर आपकी पथरी टूट-टूट कर पेशाब के द्वारा बहार आ जाएगी. कई लोगों को गुर्दे के बजाए पीते में पथरी होती है जिसके लिए doctors operation करने को कहते हैं पर ये दवा तो इतनी असरकार है की पीते की पथरी को भी भी ख़तम कर देती है.

2. Berberis Vulgaris Mother Tincher

आप किसी भी आयुर्वेदिक दुकान में जाकर Berberis Vulgaris mother tincher को खरीद सकते हैं. इसके बाद आपको एक कप गुनगुना पानी करना है और उसमे 10 बूदों इस दवाई की मिलानी है और इसको पीना है. ऐसा आपको दिन में चार बार सुबह, दोपहर, शाम और रात में करना है. अगर आप ऐसा लगातार 2 महीने करते हैं उसके बाद आपना ultrasound करवाते हैं तो आपको पता लगेगा की आपकी पथरी खतम हो चुकी है. अगर फिर भी आपको पता लगे की थोड़ी बहती पथरी बची भी है तो आप 1 महीना और इस दवाई को खाएँ.

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *