Homeघरेलू उपाय

एच आई वी एड्स के संक्रमण से खुद को कैसे बचाएँ – HIV Aids Precautions

Hello Friends कैसे हैं आप सभी? मुझे पूरी उम्म्मीद है कि आपको हमारे article पसंद आ रहे होंगे. हमारी यही कोशिश रहती है कि हम अपने article में ज्यादा से ज्यादा information आप लोगों को दे सकें और साथ ही point to point समझाएँ. दोस्तों हमारे पिछले article “Sex की इच्छा को कैसे बढाएँ – How to Increase Libido” को आपने इतना पसंद किया उसके लिए आपका thanks. आज हम आपके लिए जो article लेकर आए हैं वो अभी तक का सबसे important article है जिसका title है “HIV Aids संक्रमण से खुद को कैसे बचाएँ – HIV Aids Precautions”. दोस्तों Aids बहुत ही ख़तरनाक बीमारी है जिसका अभी तक कोई इलाज नहीं बना है कि उसे ठीक किया जा सके. Aids होने की शुरुआत में हमारे शरीर में HIV (Human Immunodeficiency Virus) के  virus बढ़ने लगते हैं. वैसे इसको रोकथाम करने की दवाइयां market में उपलब्ध है मगर ये इसको हमेशा के लिए नहीं ठीक करती. जब तक आप दवाई लेंगे तब तक आप ठीक रहेंगे. आपको lifetime दवाइयों पर ही रहना पड़ेगा. इसलिए बेहतर है कि आप पहले ही इस बीमारी से बचने के उपाय करें. अगर आप HIV के संक्रमण से बचना चाहते है तो हम नीचे जरुरी points आपके साथ share कर रहे इन्हें ध्यान से पढ़ें. (HIV AIDS Sankarman Se Khud Ko Kaise Bachaye)

HIV Aids संक्रमण से खुद को कैसे बचाएँ - HIV Aids Precautions

HIV से कैसे बचें – HIV Se Kaise Bachen

1. अपना STDs और STIs का ज़रूर Treatment करवाएँ

आपको अपने STD और STI test समय पर करवाने चाहिए. अगर आपमें ये संक्रमण पाए जाते हैं तो इसके आप बहुत नुकसान हो सकते हैं. ये आपके शरीर में बिमारियों से लड़ने की क्षमता को कम कर देता है. जिससे की आपको HIV के लागों के बिच अनजाने में कोई ऐसी हरकत होने से आपको जल्दी अपनी चपेट में ले लेता है. इससे बचने के लिए आप doctor से सही सलाह लें और सही समय पर इसका इलाज करवा लें.

2. अगर बिना सुरक्षा के Sex किया है तो तुरन्त Checkup कराएँ

अगर आपको लगता है कि आपने बिना सुरक्षा के sex कर लिया है और अब आपको इसका पछतावा हो रहा है. साथ ही आपको अपने partner पर भरोसा नहीं है कि उसके औरों के साथ भी physical relation हैं तो ऐसे में आपके पास एक ही उपाय है वो है PEP जिसका पूरा नाम पोस्ट-एक्सपोजर प्रोफीलेक्सिस है. इसमें आपके पास 72 घंटे होते हैं जिसके भीतर आप अपना इलाज करवा सकते हैं. वैसे 55 घंटे से अधिक होने पर इसके ठीक होने के chances थोड़े कम हो जाते हैं.

3. Sex के लिए किसी तरह की चिकनाहट का जरुर इस्तेमाल करें

चिकनाहट का उपयोग करना HIV को control में आपकी मदद कर सकता है. अब आप सोच रहे होंगे कि ये कैसे भला. Actually जब आप condom का इस्तमाल कर रहे होते हैं तो इस बात के काफ़ी chance बने रहते है कि कहीं condom बीच में ही न फट जाए. इसलिए अगर आप किसी ऐसी चिकनाहट वाली चीज़ का इस्तेमाल करेंगे तो कंडोम के फटने के chance ना के बराबर हो जाते हैं. अगर आप गुदा सेक्स (anal sex) करते हैं तो आपको जिमेवारी और भी बढ़ जाती है क्योंकि गुदा से sex करने पर घर्षण ज्यादा होता क्योंकि गुदा योनी के मुकाबले में ज्यादा tight होती है. इसलिए आप कंडोम में चिकनाहट का उपयोग जरूरत कीजिए.

4. Sex Toy से भी हो सकता है संक्रमण

अगर आप sex toys इस्तेमाल करते हैं तो इस बात का जरुर ध्यान रखें की उनकी नियमित रूप से सफाई जरुर करें. जब भी आप उन्हें अपनी गुदा या फिर योनी में डालती हैं तो उसके बाद उन्हें जरुर साफ़ कीजिए. इन खिलोनों को इस्तेमाल में लाने से पहले इन पर condom ज़रूर लगाने चाहिए. क्योंकि इससे आप अपने आपको HIV से बचा कर रख पाते हैं.

Aids से बचने के Treatment – Aids Se Bachne Ke Treatment

1. Sex के समय रखें सावधानियाँ

अगर आप अभी शादीशुदा नहीं है तो कोशिश कीजिए की अपनी virginity को बचाकर रखें. अगर फिर भी आपको किसी के साथ sex करना है तो आप इस बात का जरुर ध्यान रखें कि condom का इस्तेमाल आपके लिए बहुत ज़रूरी है. दुकान में महिला condom और पुरुष condom दोनों उपलब्ध हैं. आपको जो भी अच्छा लगे उसे इस्तेमाल कर सकते हैं. जिसके साथ आप sex करना चाहते हैं उसको पहले अच्छी तरह से जान लें और अगर हो सके तो उसी के साथ sex करें जिसके साथ आप future में शादी भी कर सकें. Time pass करने के लिए बार-बार partner change न करें. ये आपमें संक्रमण होने के chance को बढ़ा सकता है.

2. Blood से संक्रमण होने से कैसे रोकें

अगर आप किसी का खून ले रहे हैं या किसी को खून दे रहे हैं तो हमेशा इस चीज़ पर ध्यान रखें कि आपको fresh सुई लगे जाए. रक्त के द्वारा भी HIV संक्रमण हो सकता है. जब कभी blood donation करें तो इस बात का हमेशा ध्यान रखें कि हमेशा नए सुई का उपयोग करें. वैसे तो जब आप रक्तदान करते हैं वहां पहले से ही expert होते हैं जिन्हें पूरी सावधानी रखने का पता होता है. ज्यादादर खून से संक्रमण तब होने के chance बढ़ जाते हैं जब आप अपने आप injection लेते हैं. ऐसा तब होता है जब लोग नशा करने के लिए एक दुसरे का use की गई needle इस्तेमाल में लाते हैं.

3. माँ से शिशु में संक्रमण फ़ैलने से बचाएँ

HIV माँ से होने वाले बच्चे को भी हो सकता है. अगर किसी महिला को एच॰आइ॰वी॰ है तो उससे ये संक्रमण उसके नवजात शिशु को होने की संभावना रहती है. अगर आप HIV से पीड़ित हैं और pregnant भी हैं तो आपके बच्चे को सक्रमण न हो उसके लिए आपको सबसे पहले तो अवांछित गर्भ से बचना होगा जिसके लिए आप गर्भनिरोधक गोलियां या फिर condom का प्रयोग कर सकती हैं. Pregnancy में माँ को एंटीरेट्रोवाइरल दवाइयाँ दी जानी ज़रूरी होती है जिससे की बच्चे को संक्रमण होने का ख़तरा कम ही रहता है. अगर हो सके तो बच्चे का जन्म सी-सेक्शन से कराया जाए. अगर हो सके तो शिशु को अपनी माँ का स्तनपान न कराया जाए.

4. दूसरों के शरीर के तरल से बचें

आप बहुत से लोगों को जानते होंगे मगर ये जानना बहुत ही मुश्किल है कि उनमे कौन HIV से ग्रस्त है. हर कोई अपने शरीर की जाँच नहीं करवाता इसलिए हम नहीं जान पाते की कौन इससे संक्रमित है. इसलिए सबसे बढ़िया तरीके जो आपके लिए है वो है अपने आप को जितना हो सके दूसरों के शरीर से निकलने वाले तरल पदार्थों से दूर रहना चाहिए जिनमे वीर्य, वीर्य से पहले निकलने वाला तरल, योनी से निकलने वाला तरल, मलाशय की त्वचा, स्तन दुग्ध शामिल हैं. अगर इनके सम्पर्क में आने से अपने आपको रोक लोगे तो काफ़ी हद तक आप अपने आपको HIV से बचा सकते हैं.

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *