Homeघरेलू उपाय

स्तन कैंसर के लक्षणों को कैसे पहचाने – Breast Cancer Symptoms

Breast Cancer बहुत ही ख़तरनाक बिमारियों में से एक है. आज देखा जाए तो हर 100 में से 10 महिलाएँ breast cancer से पीड़ित हैं. Cancer की बीमारी में सबसे ज्यादा होने वाली बीमारी है skin cancer और दुसरे नंबर पर breast cancer का ही नाम आता है. साथ ही हम आपको बताना चाहते हैं की breast cancer दुसरे नंबर पर है जिससे की हर साल सबसे ज्यादा मृत्यु होती है. पहले स्थान पर फेफड़ों का कैंसर है जिसकी वजह से कई लोगों से अपनी जान गवा दी है. पुरुषों में chest cancer बहुत ही कम लोगों को होता है न के बराबर. लेकिन महिलाओं में इस संख्या ज्यादा है. अगर आप breast cancer को हराना चाहते हैं तो इसका एक ही उपाय है की समय रहते अपना पूरी तरह से इलाज करवाएँ. (Stan Cancer Ke Lakshano Ko Kaise Pehchane)

स्तन कैंसर के लक्षणों को कैसे पहचाने – Breast Cancer Symptoms

Breast Pain Reason in Hindi

1. अपना खुद का Checkup करें

महिला को अपने शरीर के प्रति खुद active होना चाहिए. यदि आप खुद अपने शरीर का ध्यान नहीं रखेंगी तो आपको उसके नुकसान आने वाले समय में उठाने पड़ सकते हैं. जब भी आप नहाने के लिए जाएँ तो अपने स्तनों को अच्छी तरह से दबाकर देखें की कहीं आपको अपने स्तन में किसी तरह की कोई गांठ तो महसूस नहीं हो रही या फिर किसी तरह की कोई pain तो नहीं. ऐसा आपको रोज़ाना नहाते समय करना चाहिए.

2. शीशे के सामने अपनी जाँच करें

आपको अपना थोडा सा checkup खुद करना चाहिए. इसके लिए आप जहाँ शीशा लगा हो किसी अकेले कमरे में या बाथरूम में जाएँ. अब आप अपने top, shirt, t-shirt या जो कुछ भी आपने पहना हुआ है उसे उतार दें और अपनी bra को भी उतार लें. अब आप अपने स्तनों को ध्यान से शीशे में देखें की कहीं आपके स्तनों की निप्पल के size में कोई फर्क, breast में सूजन या nipple से किसी तरह का द्रव तो नहीं निकलता.

3. अपने Breast के बदलाव पर ध्यान दें

आप अपने breast को समय-समय पर examine करती रहें. उनका size normal है. Breast बेढंगे तो नहीं हो रहे हैं. हो सके टी अपने partner से इस विषय पर जरुर बात करें वो आपकी ज्यादा help कर सकता है. उसे कहिए की अगर वो आपके स्तनों में किसी भी तरह का कोई बदलाव पता है तो तुरंत बताए. क्योंकि आप अपने स्तनों तो उस एंगल से नहीं देख सकती जिस एंगल से आपका partner देख सकता है.

4. अपनी Personal और Family History को जानें

अगर आपको पहले कभी breast cancer हुआ है तो हो सकता है कि future में आपको दुसरे स्तन या उसी स्तन में दुबारा से cancer हो जाए. अगर परिवार में पहले भी किसी को ब्रैस्ट कैंसर हुआ है तो आपको इसके होने के chances बहुत बढ़ जाते हैं.

Breast Cancer के लक्षण – Breast Cancer Ke Lakshan

1. स्तन में गांठ का होना

अगर आपको लगता है की आपके स्तन में में किसी तरह की गांठ (lump) है तो ये cancer की वजह से भी हो सकता है. आपको समय रहते उस गांठ का checkup करवाना चाहिए. गांठ का checkup ultrasound या फिर mammogram से किया जाता है. अगर आप और भी ज्यादा sure होना चाहते हैं तो आप FNAC (Fine Needle Aspiration Cytology) का test भी करवा सकते हैं. इस test में गांठ पर सुई डालकर थोड़ा सा fluid निकला जाता है और फिर उसकी जाँच की जाती हैं की क्या सचमुच में ये कैंसर है या नही.

2. Breast Nipples से खून निकलना

कभी-कभी देखा गया है की breast की nipple में से खून का स्त्राव होने लगता है. वैसे ये जरुरी नहीं की हर किसी की साथ हो. ये तो सबसे कम होने वाला लक्षण है. ये बहुत ही कम महिलाओं के साथ होता है.

3. Breast में गड्ढे या खिंचाव आना

यदि आपकी breast skin पर किसी तरह के किसी तरह के गड्ढे या खिंचाव आता है तो यह आपके लिए चिंता का विषय हो सकता है. क्योंकि ये सबसे सटीक लक्षण है ब्रैस्ट कैंसर होने का.

4. Nipple से स्त्राव को आम न समझें

अगर आप अभी स्तनपान नहीं करवाती है और फिर भी अगर आपके निप्पल से अपने आप discharge होता है वो भी बिना nipple को दबाए. ये सफ़ेद, लाल, संतरी, पीले या फिर अन्य color का भी हो सकते है. तो ये भी breast cancer का एक लक्षण हो सकता है.

5. स्तन पर खुजली

अगर आप ब्रैस्ट की स्किन में खुजली, या स्किन का का लाल हो जाना जैसे symptoms में से गुजर रही है और इसे सामान्य समझ कर एंटीबायोटिक्स ले रही है लेकिन ये ठीक नहीं हो रहा. ऐसे में तुरंत आपको इसके जाँच किसी बड़े clinic या hospital में करवानी चाहिए.

6. सूजन पर ध्यान देना जरुरी

अपने ब्रैस्ट के निप्पल के आसपास सोजिश को notice करें. आप निश्चिन्त होकर न बैठें क्योंकि सोजिश होना भी breast कैंसर होने की शुरूआत हो सकती है.

7. ये भी हो सकते है लक्षण

अगर आपको अपने वजन में कमी, हड्डियों में दर्द रहना, साँस लेने में दिक्कत होना या फिर स्तन में ज्यादा खुजली, दर्द का अनुभव होता है तो ऐसे भी तुरंत अपनी जाँच करवाएँ.

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *